in ,

LoveLove CuteCute OMGOMG GeekyGeeky

Yaadein | Memories | Untold words | 1st Poem by Ragini Maam | Hindi

yaadein, yaade, yadey, blogscart poem, memories, untold stories, untold words
Created using Canva
Share with your friends

Read this article on Yaadein – Memories by Ragini Bindal and share it with your friends, and don’t forget to share your valuable comments in the comment section below to motivate and appreciate their amazing work.

Yaadein

 

आज मैं अपने मायके गई

याद आ गई अपने बचपन की बातें कई।

देखकर वह हर गली हर कोना याद आ गया मुझको सुबक सुबक कर रोना।

इन गलियों में मेरा बचपन बीता याद आ गया वह गोल-गप्पे का पानी तीखा।

 

इन गलियों के हर एक कोने में मेरी यादें बसी थी,

हर एक कोने में मेरे वह लड़ने झगड़ने की बातें बसी थी ।

जहां मैं हर किसी से लड़ती थी, झगड़ती थी, खेला करती थी,

आज वही कोना मुझे दूर खड़ा देखता है

मुझसे लिपटना चाहता है ।

 

बस वह सब यादें ही रह गई,

मेरे सीने में बनकर फास 

यही कुछ यादें रह गई 

मेरे पास ..मेरे पास -मेरे पास।

 

उन गलियों को देखकर जी करता है, 

कि वह बचपन फिर मिल जाए 

फिर से हर एक कोना ,

मेरी नटखट आदतों से आबाद हो जाए 

मैं फिर से खेलू-कूदू और झूम झूम कर नाचू।

 

याद आ गया मुझे वह बारिश का पल

जब हम घर से निकल आते थे बिना चप्पल 

और पानी में छप- छप छप -छप  खेला करते थे 

जी भर कर पानी में भीगा करते थे।

कहीं कुछ नहीं होता था 

किसी को कितनी भी चोट लगे, नहीं कोई रोता था ।

 

पर आज  देखती हूं जब वह गलियां ,

तो लगता है वही पागल -सी लकड़ी दौड़ रही है

यहां -वहां ।

बस! अब वह पल यादों में बसते हैं 

मैं उन पलों को अपनी आंखों में सजा कर ,

वापस अपने घर आ गई।

वह मीठे से पल मेरे अधरों पर मुस्कान दे गए 

मुझे जीने का पैगाम दे गए।

 

Do comment your thoughts on this amazing poem Yaadein (memories) by Ragini Maam in the comment section below and share as much possible.

Stay tuned for more amazing stories, poems & articles like this.

For sponsor any article or your article you can mail us with your logo ready and details.

Our Officials

Instagram Youtube free icon Facebook


Share with your friends

Report

What do you think?

27 Points
Upvote Downvote
Subscribe
Notify of
guest
6 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Vibha Singh
4 months ago

incredible 👌👌

Shubhi gupta
Shubhi gupta
4 months ago

Lovel….my rockstar….

Shubhi gupta
Shubhi gupta
4 months ago

😘😘😘 lovely

mohit
mohit
4 months ago

great 👏

Isha Saini
Isha Saini
4 months ago

Very beautiful poem🙂
Love u so much mam.🥰

amritpsingh
26 days ago

Its so beautiful…🙂
Something very very heart touching I have read in recent times…❣
May god bless you with good health ma’am❣❤

Written by Ragini Bindal

Teacher and Story-teller
I give words to thoughts

Why Hindi does not became a National language, national language, India national language, Hindi language, blogscart article, blogscart story, blogscart stories, hindi national language?

Why Hindi does not became a National language? | 2nd article by Astitva

project gemini, roger that, blogscart article, blogscart stories, space geek, space story

Roger That 6 Project Gemini | Article by Anurag Saini